img
पहली मुलाकात से लेकर आखिरी बातचीत तक, Captain Anshuman Singh के साथ बिताए पलों को Smriti ने किया याद

स्मृति ने बताया कि कैसे कॉलेज के पहले दिन उनकी अंशुमन से उनकी मुलाकात हुई, कैसे दोनों को प्यार हुआ, फिर कैसे दोनों ने आठ साल बाद लॉन्ग डिस्टेंस रिश्ते में रहने के बाद शादी की। स्मृति ने उस दुख से भरे पल को भी याद किया जब अंशुमन और उन्होंने अपने भविष्य के बारे में बात की।

एक फौजी की पत्नी होना शहीद होने से ज़्यादा मुश्किल है... सियाचिन में शहीद हुए भारतीय सेना के वीर कैप्टन अंशुमन सिंह की पत्नी स्मृति सिंह का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। भारतीय रक्षा मंत्रालय और डीडी नेशनल द्वारा साझा किए गए इस वीडियो में, स्मृति अंशुमन के साथ गुजारे समय को याद करती नजर आ रही हैं। स्मृति ने बताया कि कैसे कॉलेज के पहले दिन उनकी अंशुमन से उनकी मुलाकात हुई, कैसे दोनों को प्यार हुआ, फिर कैसे दोनों ने आठ साल बाद लॉन्ग डिस्टेंस रिश्ते में रहने के बाद शादी की। स्मृति ने उस दुख से भरे पल को भी याद किया जब अंशुमन और उन्होंने अपने भविष्य के बारे में बात की और अगले दिन सुबह उन्हें अपने पति के शहीद होने की खबर मिली।

स्मृति ने कहा, 'इंजीनियरिंग कॉलेज के पहले दिन हमारी मुलाकात हुई थी। यह पहली नजर का प्यार था। एक महीना ही बीता था कि उनका चयन आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज (एएफएमसी) में हो गया। वे सुपर इंटेलिजेंट व्यक्ति थे। एक महीने की मुलाकात के बाद हमारा रिश्ता एक लॉन्ग डिस्टेंस हो गया था। आठ साल के लंबे दूरी के रिश्ते के बाद हमने शादी करने का फैसला किया। शादी के दो महीने बाद ही उनकी सियाचिन में पोस्टिंग हो गई। 18 जुलाई 2023 को हमारी लंबी बातचीत हुई थी कि अगले 50 साल में हमारी जिंदगी कैसी होगी। अपना घर होगा। हमारे बच्चे होंगे और भी बहुत कुछ। 19 जुलाई की सुबह मुझे फोन आया कि वो नहीं रहें।'

स्मृति ने आगे कहा, 'अगले 7-8 घंटे भरोसा ही नहीं हुआ कि ऐसा कुछ हुआ है। मैं यह मानने के लिए तैयार ही नहीं थी कि मेरे पति इस दुनिया में नहीं रहे। आज तक मैं इस दुख से उबरने की कोशिश कर रही हूं, यह सोचकर कि शायद यह सच नहीं है। अब जब मेरे हाथ में कीर्ति चक्र है, तो मुझे अहसास हुआ कि यह सच है।' उन्होंने आगे कहा, 'लेकिन यह ठीक है। वे एक हीरो हैं। हम अपने जीवन को थोड़ा मैनेज कर सकते हैं क्योंकि उन्होंने बहुत कुछ मैनेज किया था। उन्होंने अपना जीवन और परिवार त्याग दिया ताकि अन्य तीन परिवारों को बचाया जा सके।

img

हलाल को मानवता से… नेमप्लेट विवाद में सूद Vs रनौत! Yogi Adityanath के फैसले की हर तरफ चर्चा

हलाल को मानवता से… नेमप्लेट विवाद में सूद Vs रनौत! Yogi Adityanath के फैसले की हर तरफ चर्चा

UN की शीर्ष अदालत ने क्षेत्रों पर Israel के कब्जे की वैधता पर विशेषज्ञ राय देने के लिए बैठक बुलाई

UN की शीर्ष अदालत ने क्षेत्रों पर Israel के कब्जे की वैधता पर विशेषज्ञ राय देने के लिए बैठक बुलाई

CM केजरीवाल की गैरमौजूदगी में पत्नी सुनीता ने संभाली कमान, शनिवार को करेंगी बड़ा ऐलान

CM केजरीवाल की गैरमौजूदगी में पत्नी सुनीता ने संभाली कमान, शनिवार को करेंगी बड़ा ऐलान

PM मोदी से मुलाकात के बाद बोले CM सैनी, लगातार आगे बढ़ते रहेगा हरियाणा

PM मोदी से मुलाकात के बाद बोले CM सैनी, लगातार आगे बढ़ते रहेगा हरियाणा

'ना संगठन ना सरकार, सबसे बड़ा होता है जन कल्याण', अखिलेश यादव ने केशव मौर्य को ऐसे दिया जवाब

'ना संगठन ना सरकार, सबसे बड़ा होता है जन कल्याण', अखिलेश यादव ने केशव मौर्य को ऐसे दिया जवाब

योगी सरकार के आदेश को प्रियंका ने बताया लोकतंत्र पर हमला, बोलीं- जाति और धर्म के आधार पर विभाजन पैदा करना अपराध

योगी सरकार के आदेश को प्रियंका ने बताया लोकतंत्र पर हमला, बोलीं- जाति और धर्म के आधार पर विभाजन पैदा करना अपराध

Leave A Comment