img

हलाल को मानवता से… नेमप्लेट विवाद में सूद Vs रनौत! Yogi Adityanath के फैसले की हर तरफ चर्चा

हलाल को मानवता से… नेमप्लेट विवाद में सूद Vs रनौत! Yogi Adityanath के फैसले की हर तरफ चर्चा

हिमाचल प्रदेश के मंडी से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सांसद कंगना रनौत ने शनिवार को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कांवर यात्रा मार्ग पर खाद्य दुकानों को उनके मालिकों के नाम प्रदर्शित करने के निर्देश पर अभिनेता सोनू सूद के रुख को लेकर उन पर कटाक्ष किया।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कांवर यात्रा मार्ग पर खाद्य दुकानों को उनके मालिकों के नाम प्रदर्शित करने के निर्देश को लेकर विवाद जारी है। विपक्ष के अवाला कई लोगों ने योगी सरकार के फैसले की आलोचना की है। इस विवाद में अभिनेता सोनू सूद और कंगना रनौत भी कूद पड़े हैं। हिमाचल प्रदेश के मंडी से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सांसद कंगना रनौत ने शनिवार को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कांवर यात्रा मार्ग पर खाद्य दुकानों को उनके मालिकों के नाम प्रदर्शित करने के निर्देश पर अभिनेता सोनू सूद के रुख को लेकर उन पर कटाक्ष किया। 

सोनू ने अपने एक्स हैंडल पर लिखा और लिखा कि दुकानों की नेमप्लेट पर केवल 'मानवता' प्रदर्शित होनी चाहिए। अब कंगना ने उनके पोस्ट पर रिप्लाई करते हुए उनके स्टैंड पर सवाल उठाया है। सोनू ने अपने ट्वीट में लिखा, ''हर दुकान पर केवल एक नेमप्लेट होनी चाहिए: "मानवता"। इसके बाद उन्हें अच्छा खासा समर्थन भी मिला। सोनू के रुख पर प्रतिक्रिया देते हुए, कंगना ने कहा, '' सहमत हूं, हलाल को "मानवता" से बदल दिया जाना चाहिए। 

इससे पहले दिग्गज पटकथा लेखक और गीतकार जावेद अख्तर ने भी चल रहे मामले पर अपने विचार व्यक्त किए और राज्य सरकार की तुलना 'नाजी जर्मनी' से की। उन्होंने लिखा कि ''मुजफ्फरनगर यूपी पुलिस ने निर्देश दिए हैं कि निकट भविष्य में किसी विशेष धार्मिक जुलूस के मार्ग पर सभी दुकानें, रेस्तरां और यहां तक ​​कि वाहनों पर मालिक का नाम प्रमुखता और स्पष्ट रूप से दिखाया जाना चाहिए। क्यों? नाज़ी जर्मनी में वे केवल विशेष दुकानों और घरों पर निशान बनाते थे।''

 

Read more
img

भारत में माइक्रोसॉफ्ट आउटेज के कारण कोलतकाता में 25 उड़ानें रद्द, 70 से ज्यादा Delay

भारत में माइक्रोसॉफ्ट आउटेज के कारण कोलतकाता में 25 उड़ानें रद्द, 70 से ज्यादा Delay

कोलकाता एयरपोर्ट ने अपने एक्स हैंडल पर पोस्ट करते हुए कहा कि यात्रियों को अपडेट के लिए अपनी संबंधित एयरलाइंस से संपर्क करने की सलाह दी जाती है। हम Microsoft Azure के साथ एक नेटवर्क-व्यापी समस्या का सामना कर रहे हैं, जिसके कारण हवाई अड्डों पर देरी हो रही है।

वैश्विक आईटी आउटेज के कारण, देश भर में उड़ान संचालन बाधित हो गया, जिससे कोलकाता हवाई अड्डे पर यात्रा और उड़ान कार्यक्रम प्रभावित हुए। हवाई अड्डे के अधिकारियों के अनुसार, 14 प्रस्थान और 11 आगमन सहित कम से कम 25 उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। कोलकाता से इंडिगो की दो उड़ानें - एक सिलचर के लिए और दूसरी बेंगलुरु के लिए रद्द कर दी गईं। हवाई अड्डे से प्राप्त जानकारी के अनुसार, 40 से अधिक प्रस्थान और 29 आगमन उड़ानों में देरी हुई है। हवाईअड्डे के अधिकारियों ने कहा कि हवाईअड्डे पर समस्या शुक्रवार सुबह 10 बजे शुरू हुई, पहली प्रभावित उड़ान सुबह 10.30 बजे इंडिगो एयरलाइंस की थी।

कोलकाता एयरपोर्ट ने अपने एक्स हैंडल पर पोस्ट करते हुए कहा कि यात्रियों को अपडेट के लिए अपनी संबंधित एयरलाइंस से संपर्क करने की सलाह दी जाती है। हम Microsoft Azure के साथ एक नेटवर्क-व्यापी समस्या का सामना कर रहे हैं, जिसके कारण हवाई अड्डों पर देरी हो रही है। चेक-इन धीमा हो सकता है और कतारें लंबी हो सकती हैं। हमारी डिजिटल टीम इसे तेजी से हल करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट के साथ काम कर रही है। पोस्ट में कहा गया कि सहायता के लिए, कृपया हमारी ऑन-ग्राउंड टीम से संपर्क करें। आपके धैर्य के लिए धन्यवाद। 


एयरपोर्ट पर पूरी तरह से अफरा-तफरी का माहौल है। हवाईअड्डे के एक कर्मचारी ने कहा कि शुरुआत में यात्रियों को अच्छी तरह से सूचित नहीं किया गया था, पूछताछ और आगमन प्रस्थान द्वार पर भी लंबी कतारें थीं। कर्मचारियों ने कहा कि यात्रियों को सहयोग करने के लिए कहा गया है और उचित संचार किया जा रहा है, यह एक वैश्विक मुद्दा है।

 

Read more
img

लैपटॉप अचानक हो रहा है बंद, MS विंडोज हुआ क्राउडस्ट्राइक अपडेट का शिकार

लैपटॉप अचानक हो रहा है बंद, MS विंडोज हुआ क्राउडस्ट्राइक अपडेट का शिकार

इस वक्त बहुत से लैपटॉप और कंप्यूटर अचानक ब्लू स्क्रीन के साथ अचानक बंद हो जा रहे हैं। इस प्रक्रिया को ब्लू स्क्रीन ऑफ डेथ (BSOD) कहा जा रहा है। क्राउडस्ट्राइक की अपडेट के बाद अचानक लैपटॉप की स्क्रीन ब्लू हो जा रही है और लैपटॉप काम करना बंद कर दे रहा है।

Laptop Blue Screen Error: दुनिया भर के कंप्यूटर और लैपटॉप इस वक्त ब्लू स्क्रीन ऑफ डेथ (BSOD) का शिकार हो रहे हैं। जानी मानी साइबर सिक्योरिटी कंपनी क्राउडस्ट्राइक ने एक अपडेट जारी किया था जिसके बाद MS विंडोज पर चलने वाले सभी कंप्यूटर्स और लैपटॉप अचानक क्रैश कर रहे हैं। लैपटॉप काम करते हुए अचानक बंद हो जा रहे हैं और इसके बाद यूजर्स को एक नीली स्क्रीन दिखाई दे रही है। स्क्रीन पर लिखा हुआ है कि आपका कंप्यूटर किसी समस्या में है और इसे एक रीस्टार्ट की जरूरत है। इस प्रोसेस को ही ब्लू स्क्रीन ऑफ डेथ (BSOD) कहा जा रहा है।

इस समस्या की बदौलत पूरी दुनिया में माइक्रोसॉफ्ट विंडोज पर चलने वाले लैपटॉप और कंप्यूटर प्रभावित हुए हैं। क्राउडस्ट्राइक ने इस मामले का संज्ञान लेते हुए समस्या की जांच शुरू कर दी है। अपनी क्राउडस्ट्राइक के प्रतिनिधि ने बयान जारी करते हुए कहा है कि हमें बड़े पैमाने पर मौजूद एक समस्या के बारे में पता चला है जो विंडो पर चलने वाली मशीनों में BSOD समस्या को ट्रिगर कर रहा है।


अगर आप भी अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में ब्लू स्क्रीन ऑफ डेथ (BSOD) की समस्या का सामना कर रहे हैं तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखें। ध्यान रहे कि आपको किसी भी हालत में खुद से इस समस्या का समाधान करने की कोशिश नहीं करनी है। टेक्निकल अलर्ट जारी होने का इंतजार करें। क्राउडस्ट्राइक फिलहाल इस समस्या के समाधान पर काम कर रहा है और जल्द ही आपको इसके बारे में अपडेट कर दिया जाएगा। BSOD एरर से संबंधित सबसे लेटेस्ट अपडेट प्राप्त करने के लिए स्टोरी को फॉलो करते रहें।

Read more
img

Rain Update: कर्नाटक में रेड अलर्ट; केरल में आज भारी बारिश के कारण स्कूल बंद

Rain Update: कर्नाटक में रेड अलर्ट; केरल में आज भारी बारिश के कारण स्कूल बंद

तीनों जिलों में जिला प्रशासन ने शुक्रवार, 19 जुलाई को शैक्षणिक संस्थानों में अवकाश घोषित कर दिया है। मलप्पुरम और इडुक्की जिलों के एरीकोड और कोंडोट्टी में भी अवकाश घोषित कर दिया गया है। पलक्कड़ में एक स्कूल बस के नहर में पलट जाने की घटना भी हुई।

केरल के कई हिस्सों, विशेषकर उत्तरी मालाबार जिलों के पहाड़ी इलाकों में गुरुवार को भारी बारिश जारी रही, जिससे सामान्य जनजीवन बाधित हो गया। उत्तरी केरल के वायनाड, कन्नूर और कासरगोड जिलों के कई हिस्सों से बाढ़, पेड़ उखड़ने, संपत्ति को नुकसान और मामूली भूस्खलन की कई घटनाएं सामने आईं, जहां आईएमडी ने दिन के लिए रेड अलर्ट जारी किया था।

तीनों जिलों में जिला प्रशासन ने शुक्रवार, 19 जुलाई को शैक्षणिक संस्थानों में अवकाश घोषित कर दिया है। मलप्पुरम और इडुक्की जिलों के एरीकोड और कोंडोट्टी में भी अवकाश घोषित कर दिया गया है। समाचार एजेंसी पीटीआई ने बताया कि पलक्कड़ में एक स्कूल बस के नहर में पलट जाने की घटना भी हुई। इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ और सभी बच्चों को बचा लिया गया। कन्नूर में भारी वर्षा और बाढ़ के कारण लगभग 80 लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया गया तथा लगभग 71 परिवारों को जिला प्रशासन द्वारा उनके रिश्तेदारों के यहां पहुंचाया गया।

इसके अतिरिक्त, मानसून की बारिश के कारण जिले में 13 घर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए हैं और 242 घर आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गए हैं। उत्तरी केरल के कुछ हिस्सों से भी बारिश के कारण दीवारें गिरने और आसपास खड़े वाहनों को नुकसान पहुंचने की खबरें आई हैं। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि जुलाई 2020 तक तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में कहीं-कहीं अत्यधिक भारी वर्षा होने की संभावना है।

एजेंसी ने कहा कि ऐसा संभवतः बंगाल की खाड़ी के मध्य और उससे सटे उत्तरी भाग पर बने कम दबाव के क्षेत्र के प्रभाव के कारण हुआ है। पीटीआई के अनुसार, आईएमडी ने दक्षिण कन्नड़, उडुपी, उत्तर कन्नड़ और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में 19 और 20 जुलाई के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। रेड अलर्ट 24 घंटे में 20 सेमी से ज़्यादा भारी से लेकर बहुत भारी बारिश का संकेत देता है। इसके लिए अधिकारियों को चरम मौसम की घटना के मद्देनज़र “कार्रवाई” करनी होती है। यहां के अधिकारियों ने तटीय और पश्चिमी घाट क्षेत्रों में बाढ़ की चेतावनी भी जारी की है। पिछले दो दिनों में इन क्षेत्रों में व्यापक वर्षा के कारण तटीय और पश्चिमी घाट क्षेत्रों में बाढ़ आने की संभावना है।

Read more
img

Dibrugarh Train Accident: एक्सीडेंट से पहले सुनी धमाके की आवाज, लोको पायलट का हैरान करने वाला दावा

Dibrugarh Train Accident: एक्सीडेंट से पहले सुनी धमाके की आवाज, लोको पायलट का हैरान करने वाला दावा

लोको पायलट ने बताया है कि उन्होंने दुर्घटना से पहले एक तेज़ विस्फोट जैसी आवाज़ सुनी। इस दावे ने फिलहाल सभी को हैरान कर दिया है। इसके बाद इस घटना को लेकर अलग-अलग एंगल से जांच की जा रही है। रेलवे तोड़फोड़ की संभावना की जांच कर रहा है।

उत्तर प्रदेश के गोंडा के पास डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस पटरी से उतर गई। इस घटना में कम से कम दो लोगों की मौत हो गई हैं। वहीं कई लोग घायल बताए जा रहे हैं। इसके साथ ही दोनों लोको पायलट सुरक्षित हैं। इन सब के बीच रेलवे सूत्रों ने लोको पायलट के हवाले से बड़ा दावा किया है। लोको पायलट ने बताया है कि उन्होंने दुर्घटना से पहले एक तेज़ विस्फोट जैसी आवाज़ सुनी। इस दावे ने फिलहाल सभी को हैरान कर दिया है। इसके बाद इस घटना को लेकर अलग-अलग एंगल से जांच की जा रही है। रेलवे तोड़फोड़ की संभावना की जांच कर रहा है। 

डिब्रूगढ़-चंडीगढ़ एक्सप्रेस में यात्रा कर रहे एक यात्री का दावा है, "मुझे हाजीपुर जाना था... (घटना से पहले) हल्का विस्फोट हुआ और उसके बाद जोरदार झटका लगा और हमारा कोच पटरी से उतर गया। हम चंडीगढ़ से आ रहे थे।" यूपी के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कहा कि हमारी प्राथमिकता है कि यूपी के सभी अस्पतालों में बेहतर इलाज उपलब्ध हो। आज मैंने कई अस्पतालों का निरीक्षण किया. अनुपस्थित डॉक्टरों का एक दिन का वेतन काटेंगे। जिन जगहों पर साफ-सफाई ठीक नहीं थी, वहां के लिए हमने जिम्मेदार एजेंसियों का एक दिन का वेतन काटा है. जो डॉक्टर अनुपस्थित थे उनके खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की जाएगी। 

रेलवे के मुताबिक कम से कम 13 ट्रेनें प्रभावित हुई हैं। कुछ ट्रेनों को रद्द कर दिया गया और कुछ को दूसरे रूट पर डायवर्ट कर दिया गया। रेलवे ने एक बयान में कहा, ''पूर्वोत्तर रेलवे के बाराबंकी-गोरखपुर रेलखंड पर मोतीगंज-झिलाही स्टेशनों के बीच डाउन लाइन पर 15904 चंडीगढ़-डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस के पटरी से उतर जाने के कारण गोंडा से दुर्घटना राहत चिकित्सा वाहन दुर्घटनास्थल पर पहुंच गया है। राहत एवं बचाव कार्य युद्धस्तर पर किया जा रहा है। रेल यात्रियों की मदद और अन्य जानकारी के लिए रेलवे की ओर से हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं।''

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा, "गोंडा जिले में ट्रेन दुर्घटना बेहद दुखद है। जिला प्रशासन के अधिकारियों को युद्ध स्तर पर राहत और बचाव कार्य करने और घायलों को अस्पताल पहुंचाने का निर्देश दिया गया है। मैं प्रभु श्री राम से घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं।'' रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव इस समय मुंबई में हैं। वह मुंबई से बचाव अभियान पर नजर रख रहे हैं। रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी रेल भवन के वॉर रूम में रेलवे बोर्ड के सीईओ के साथ बैठकर घटनाक्रम की जानकारी ले रहे हैं।

 

Read more
img

Rudraprayag जिले में वाहन खाई में गिरा, दो महिलाओं की मौत

Rudraprayag जिले में वाहन खाई में गिरा, दो महिलाओं की मौत

दुर्घटना के समय वाहन में एक परिवार के छह लोग सवार थे। सूचना मिलने पर एसडीआरएफ की टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर बचाव एवं राहत कार्य शुरू किया।

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में कोटेश्वर के पास चोपड़ा मार्ग पर बृहस्पतिवार को एक वाहन के गहरी खाई में गिरने से उसमें सवार एक परिवार की दो महिलाओं की मृत्यु हो गयी।


राज्य आपदा प्रतिवादन बल (एसडीआरएफ) कार्यालय से मिली जाानकारी के अनुसार, चोपड़ा से डूंगरी जा रहा वाहन अचानक अनियंत्रित होकर 150 मीटर गहरी खाई में गिर गया।

दुर्घटना के समय वाहन में एक परिवार के छह लोग सवार थे। सूचना मिलने पर एसडीआरएफ की टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर बचाव एवं राहत कार्य शुरू किया। उन्होंने बताया कि दो महिलाओं की मौके पर ही मृत्यु हो गयी जबकि चार अन्य लोगों को घायल अवस्था में खाई से निकालकर अस्पताल पहुंचाया गया।

दुर्घटना का शिकार हुआ परिवार रूद्रप्रयाग जिले के डूंगरी गांव का रहने वाला था। मृतक महिलाओं की पहचान कल्पेश्वरी देवी (68) तथा उनकी पोती आरती (24) के रूप में हुई है जबकि उनके पति बुद्धि लाल (70), उनके पुत्र जीतपाल (50), पुत्रवधु देवेश्वरी देवी (45) तथा उनकी एक अन्य पोती पूजा (27) घायलों में शामिल हैं।

Read more
img
img

अपनी ‘रील’ से मशहूर हुईं अन्वी कामदार की वीडियो बनाते समय खाई में गिरने से मौत

अपनी ‘रील’ से मशहूर हुईं अन्वी कामदार की वीडियो बनाते समय खाई में गिरने से मौत

एक पुलिस अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी। मानगांव पुलिस थाने के एक अधिकारी के अनुसार, मुंबई के मुलुंड की निवासी अन्वी बारिश के दौरान अपने दोस्तों के साथ घूमने गई थीं।

अपनी बनाईं ‘रील’ से मशहूर हुईं मुंबई निवासी अन्वी कामदार की महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में एक वीडियो बनाने के दौरान खाई में गिरने से मौत हो गई। अपने सात दोस्तों के साथ घूमने गई 27 वर्षीय ‘चार्टर्ड अकाउंटेंट’ अन्वी मंगलवार को वीडियो बनाते समय रायगढ़ जिले के मानगांव में कुंभे झरने के पास 300 फुट गहरी खाई में गिर गईं।


एक पुलिस अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी। मानगांव पुलिस थाने के एक अधिकारी के अनुसार, मुंबई के मुलुंड की निवासी अन्वी बारिश के दौरान अपने दोस्तों के साथ घूमने गई थीं। पेशे से सीए अन्वी अपनी सोशल मीडिया रील के लिए मशहूर थीं।

Read more
img

JD Vance के उपराष्ट्रपति उम्मीदवार बनने पर भारत की क्यों हो रही चर्चा, कौन हैं उषा चिलुकिरी?

JD Vance के उपराष्ट्रपति उम्मीदवार बनने पर भारत की क्यों हो रही चर्चा, कौन हैं उषा चिलुकिरी?

पब्लिकन पार्टी की ओर से ओहायो के सीनेटर जे डी वेंस को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद से उनकी पत्नी ऊषा चिलुकुरी वेंस भी सुर्खियों में आ गई हैं जो कि भारतीय-अमेरिकी नागरिक हैं।

डोनाल्ड ट्रंप ने ओहायो के सीनेटर जेडी वेंस को उपराष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार चुन लिया। ट्रंप ने एक समय अपने आलोचक रहे और बाद में करीबी सहयोगी बन गए वेंस पर भरोसा जताया है। व्हाइट हाउस के लिए संभावित उम्मीदवार ट्रंप से जेडी वेंस लगभग 40 साल छोटे हैं। जेडी वेंस का 'ससुराल' भारत है। वेंस ओहायो से पहली बार सीनेटर बने और उनकी पत्नी भारतीय-अमेरिकी हैं। रिपब्लिकन पार्टी की ओर से ओहायो के सीनेटर जे डी वेंस को उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद से उनकी पत्नी ऊषा चिलुकुरी वेंस भी सुर्खियों में आ गई हैं जो कि भारतीय-अमेरिकी नागरिक हैं। अगर ट्रंप और वेंस पांच नवंबर को होने जा रहा आम चुनाव जीत जाते हैं तो ऊषा सेकंड लेडी’ (उपराष्ट्रपति की पत्नी) का दर्जा पाने वाली संभवत: पहली भारतीय-अमेरिकी होंगी। 

जेडी वेंस ने भारतीय मूल की वकील ऊषा चिलुकुरी वेंस से शादी की है। पत्नी ऊषा चिलुकुरी वेंस का उन्हें पूरा समर्थन है। येल में सहपाठी उषा ने वेंस को यूएस ग्रुप डिस्कशन आयोजित करने में मदद की। इस दौरान दोनों की नजदीकियां बढ़ी और एक दूसरे को डेट करने लग गए। कई सालों तक डेट करने के बाद इस कपल ने साल 2014 में शादी करने का फैसला कर लिया। बताया जाता है कि एक हिंदू पंडित ने शादी को संपन्न कराया था। ऊषा चिलुकुरी वेंस खुद को हमेशा लो प्रोफाइल रखती हैं। वो कभी कभी पॉलिटिकल गैदरिंग में हिस्सा लेती हैं। ऊषा सैंट फ्रांसिसको और वाशिंगटन डीसी में एक वकील के रूप में काम करती है। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जॉन रॉबर्ट्स के क्लर्क के तौर पर भी काम कर चुकी हैं।

न्यूयॉर्क पोस्ट की खबर के अनुसार, अगर वेंस चुनाव जीतते हैं तो ऊषा पहली हिंदू महिला होंगी जो कि किसी उपराष्ट्रपति की पत्नी हैं। वह ‘सेंकड जेंटलमेंट’ (उपराष्ट्रपति के पति) डग एमहॉफ का स्थान लेंगी। देश में एमहॉफ पहले ऐसे यहूदी हैं जो कि किसी उपराष्ट्रपति के जीवनसाथी हैं। वेंस के दो बेटे इवान तथा विवेक और एक बेटी मिराबेल हैं। डोनाल्ड ट्रंप ने वेंस को उपराष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार चुना। वेंस एक समय में ट्रंप के आलोचक रहे थे लेकिन बाद में दोनों करीबी सहयोगी बन गए। ट्रंप ने अपने ट्रूथ सोशल नेटवर्क पर एक पोस्ट में लिखते हुए कहा कि लंबा विचार-विमर्श करने और कई अन्य लोगों की प्रतिभाओं पर गौर करने के बाद मैंने फैसला किया है कि अमेरिका के उपराष्ट्रपति पद के लिए सर्वश्रेष्ठ उम्मीदवार ग्रेट स्टेट ऑफ ओहायो के सीनेटर जे डी वेंस हैं।

 

Read more
img

मोहर्रम से पहले इसे मनाने के तरीके में हुआ बड़ा बदलाव, मुस्लिम देश ने लगा दिया इन पर बैन

मोहर्रम से पहले इसे मनाने के तरीके में हुआ बड़ा बदलाव, मुस्लिम देश ने लगा दिया इन पर बैन

तालिबान ने इस वर्ष मोहर्रम मनाए जाने को लेकर कड़े कानून बनाए हैं। इसके तहत शोक मनाने वाले समूह को अब खुद को मारने की अनुमति नहीं होगी। साथ ही मोहर्रम पर छाती पीटने की प्रक्रिया को भी बंद किया गया है। जो इन आदेशों को नहीं माना जाएगा उन्हें तालिबानी शासन के तहत दंड को भुगतना होगा।

देश और दुनिया में 17 जुलाई को मोहर्रम का त्यौहार मनाया जा रहा है। इसी बीच मोहर्रम से पहले अफ़ग़ानिस्तान में एक बड़ा फैसला लिया गया है। अफगानिस्तान में शरिया कानून का पालन होता है। मोहर्रम के दौरान आमतौर पर छाती पीटने और खुद को मारने की प्रथा है। हालांकि इस बार तालिबानी शासन ने मोहर्रम पर छाती पीटने और खुद को करने पर बैन लगाया है। 

तालिबान ने इस वर्ष मोहर्रम मनाए जाने को लेकर कड़े कानून बनाए हैं। इसके तहत शोक मनाने वाले समूह को अब खुद को मारने की अनुमति नहीं होगी। साथ ही मोहर्रम पर छाती पीटने की प्रक्रिया को भी बंद किया गया है। जो इन आदेशों को नहीं माना जाएगा उन्हें तालिबानी शासन के तहत दंड को भुगतना होगा। मोहर्रम को लेकर बनाए गए कानून से पहले शिया गुरुओं से सहमति ली गई है।

 

Read more
img

चुनाव बाद भी यात्रा मोड में क्यों हैं राहुल गांधी, क्या कांग्रेस को मिल गया चुनावी सफलता का कोई मंत्र?

चुनाव बाद भी यात्रा मोड में क्यों हैं राहुल गांधी, क्या कांग्रेस को मिल गया चुनावी सफलता का कोई मंत्र?

अक्सर ऐसा होता है कि बड़े चुनाव के बाद नेता कुछ दिनों के लिए ब्रेक पर चले जाते हैं। लेकिन राहुल गांधी के साथ इस बार ऐसा दिखाई नहीं दे रहा है। संसद के उद्घाटन सत्र में ही उन्होंने बता दिया कि इस बार उनकी भूमिका अलग रहने वाली है। जो कि कहीं ना कहीं भाजपा को टेंशन में ला रही होगी।

इस बार के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के 99 सीटें क्या आई, उसके वरिष्ठ नेता राहुल गांधी के कार्यशैली में बड़ा बदलाव साफ तौर पर देखने को मिल रहा है। विपक्ष के नेता के तौर पर पदभार संभालने के बाद राहुल गांधी की जमीनी सक्रियता लगातार जारी है। अक्सर ऐसा होता है कि बड़े चुनाव के बाद नेता कुछ दिनों के लिए ब्रेक पर चले जाते हैं। लेकिन राहुल गांधी के साथ इस बार ऐसा दिखाई नहीं दे रहा है। संसद के उद्घाटन सत्र में ही उन्होंने बता दिया कि इस बार उनकी भूमिका अलग रहने वाली है। जो कि कहीं ना कहीं भाजपा को टेंशन में ला रही होगी।

सबसे बड़ी बात यह है कि सोशल मीडिया और दिल्ली में सक्रियता के अलावा राहुल गांधी दूरदराज के इलाकों में भी जा रहे हैं। राहुल गांधी हाथरस में पीड़ितों से मुलाकात करने पहुंच गए जहां एक भगदड़ में 120 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद उन्होंने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर लोको पायलट की एक समूह से मुलाकात कर ली। उनकी समस्याओं को जाना और इस बहाने सरकार पर भी जबरदस्त तरीके से निशाना साधा। राहुल गांधी गुजरात दौरे पर भी गए जहां उन्होंने पार्टी कार्यक्रम के अलावा राजकोट अग्नि त्रासदी में मारे गए लोगों के परिवारों से मुलाकात की। 

इतना ही नहीं राहुल गांधी असम और मणिपुर भी पहुंच गए। असम में उन्होंने बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात की जबकि मणिपुर में राहुल ने राहत शिविरों का दौरा किया और केंद्र की मोदी सरकार से कई सवाल भी पूछे। राहुल लगातार प्रधानमंत्री से मणिपुर का दौरा करने की अपील कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि वह राज्य में हिंसा भड़कने के बाद तीसरी बार पहुंचे थे लेकिन स्थिति में कोई बदलाव नहीं हुआ है। वह अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली भी पहुंचे जहां उन्होंने आम लोगों से मुलाकात की। राहुल और कांग्रेस को लग रहा है कि जनीन पर संघर्ष के साथ ही उनकी पार्टी एर बार फिर उभर सकती है। 

राहुल गांधी की जमीनी सक्रियता को देखें तो ऐसा लगता है 99 सीटों से कांग्रेस को एक संजीवनी बूटी मिली है जिसकी बदौलत पार्टी एक बार फिर से उभरने की कोशिश कर रही है। इसके अलावा राहुल गांधी अपने जमीनी कार्यकर्ताओं को यह संदेश देने की कोशिश कर रहे हैं कि जो लोग हमें खत्म करने की बात कर रहे हैं वह कमजोर हो चुके हैं। हमें जमीन पर मेहनत करनी चाहिए और पार्टी एक बार फिर से मजबूती के साथ उभर सकती है। राहुल गांधी अपने भीतर के जुझारूपन को दिखाने की कोशिश कर रहे हैं ताकि पार्टी कार्यकर्ताओं का उत्साह बना रहे। यही कारण है कि गुजरात जैसे राज्य का दौरा करने के दौरान वह दावा कर रहे हैं कि हम यहां भी भाजपा को हराने जा रहे हैं। 

Read more
img

केजरीवाल के स्वास्थ्य के साथ BJP कर रही खिलवाड़? AAP के आरोप पर तिहाड़ प्रशासन का आया जवाब

केजरीवाल के स्वास्थ्य के साथ BJP कर रही खिलवाड़? AAP के आरोप पर तिहाड़ प्रशासन का आया जवाब


संजय सिंह ने दावा किया कि इससे साबित होता है कि अरविंद केजरीवाल की जिंदगी से खिलवाड़ करने की साजिश रची जा रही है। इस पर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा ने केजरीवाल की ज़िंदगी से खिलवाड़ करने का षड्यंत्र रचा है।

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के स्वास्थ्य को लेकर भाजपा पर हमलावर है। आप का आरोप है कि भाजपा केजरीवाल को जेल में रखकर उनके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाने की साजिश कर रही है और मधुमेह रोगी होने के कारण उन्हें चिकित्सा सहायता नहीं मिल रही है। आप सांसद संजय सिंह ने कहा कि किसी भी मरीज की मेडिकल रिपोर्ट सार्वजनिक करना अपराध है। जेल प्रशासन कई बार दिल्ली के सीएम की मेडिकल रिपोर्ट सार्वजनिक कर चुका है। 


संजय सिंह ने दावा किया कि इससे साबित होता है कि अरविंद केजरीवाल की जिंदगी से खिलवाड़ करने की साजिश रची जा रही है। इस पर कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा ने केजरीवाल की ज़िंदगी से खिलवाड़ करने का षड्यंत्र रचा है। जेल में अरविंद केजरीवाल के साथ कुछ भी अनहोनी हो सकती है। उन्होंने कहा कि AIIMS के डॉक्टर के द्वारा जारी की गई रिपोर्ट में कहा गया है कि केजरीवाल जी का वजन घटा है और उनका सुगर लेवल कई बार 50 के नीचे गया है।

वहीं, दिल्ली की कैबिनेट मंत्री आतिशी ने कहा कि मधुमेह से पीड़ित केजरीवाल का शुगर लेवल खतरनाक रूप से कम हो गया है। आतिशी ने कहा, ‘‘भाजपा ने केजरीवाल को फर्जी मामले में जेल में डालने की साजिश रची। उनके स्वास्थ्य को गंभीर खतरा है। उनका वजन 8.5 किलोग्राम कम हो गया है और सोते समय उनका शुगर स्तर पांच बार 50 से नीचे चला गया। यह विशेष रूप से मधुमेह रोगी के लिए चिंताजनक स्थिति है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर केजरीवाल को स्ट्रोक आता है, अगर उनके मस्तिष्क को नुकसान पहुंचता है या उन्हें स्थायी क्षति पहुंचती है, तो इसके लिए कौन जिम्मेदार होगा?’’

वहीं,, तिहाड़ जेल अधिकारियों ने सोमवार को कहा कि आम आदमी पार्टी के नेता दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की स्वास्थ्य स्थिति से संबंधित निराधार आरोप लगा रहे हैं और स्पष्ट किया कि जेल में रहने के दौरान उनके रक्तचाप और शर्करा के स्तर की नियमित रूप से निगरानी की जा रही थी। सेंट्रल जेल नंबर 2 के अधीक्षक के कार्यालय के अनुसार, केजरीवाल अदालत के आदेशों के अनुसार, घर का बना खाना सहित चिकित्सकीय रूप से निर्धारित आहार का पालन कर रहे हैं। जेल अधिकारियों ने एक बयान में कहा, "थोड़ा सा वजन कम होने के बावजूद, उनका शरीर सामान्य बना हुआ है और उन्हें उनकी सभी बीमारियों के लिए उचित चिकित्सा देखभाल मिल रही है।"

Read more
img

Delhi में 15 जुलाई से नहीं हो सकेगी PUC, बंद होने जा रहे हैं केंद्र, जानें क्या है कारण

Delhi में 15 जुलाई से नहीं हो सकेगी PUC, बंद होने जा रहे हैं केंद्र, जानें क्या है कारण

बयान में कहा गया है कि तेल विपणन कंपनियां पीयूसी केंद्रों से भारी किराया भी वसूल रही हैं - जो कुल राजस्व का 10-15 प्रतिशत है - जो पहले नहीं था। बयान में कहा गया है, "पिछले 13 वर्षों में पीयूसी केंद्र की विभिन्न अन्य परिचालन लागतों में भारी वृद्धि हुई है।

दिल्ली में पेट्रोल पंप पर संचालित प्रदूषण जांच केंद्रों को बंद रखा जाएगा। पेट्रोल पंप मालिकों ने कहा है कि वो दिल्ली सरकार द्वारा प्रदूषण जांच सर्टिफिकेट की दरों में प्रस्तावित बढ़ोतरी से खुश नहीं है। सोमवार से इस कारण पीयूसी केंद्र बंद रहने वाले है।

रविवार को जारी एक बयान में दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन (डीपीडीए) ने कहा कि पीयूसी केंद्रों का संचालन अव्यवहारिक है। दिल्ली सरकार ने गुरुवार को करीब 13 साल के अंतराल के बाद पेट्रोल, सीएनजी और डीजल वाहनों के लिए पीयूसी सर्टिफिकेट शुल्क में बढ़ोतरी की। यह बढ़ोतरी ₹20 से ₹40 के बीच है। दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा था कि दिल्ली सरकार द्वारा अधिसूचित होते ही नई दरें प्रभावी हो जाएंगी। दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा था कि दिल्ली सरकार द्वारा अधिसूचित होते ही नई दरें प्रभावी हो जाएंगी।

दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन (डीपीडीए) ने एक बयान में कहा, "चूंकि पीयूसी केंद्रों का संचालन अव्यवहारिक है, इसलिए कई पीयूसी केंद्रों ने पिछले कुछ महीनों में अपने लाइसेंस वापस कर दिए हैं। इसलिए दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन की प्रबंध समिति ने पीयूसी प्रमाणन दरों में मनमानी और अत्यधिक अपर्याप्त वृद्धि के मद्देनजर 15 जुलाई से दिल्ली भर में अपने खुदरा दुकानों पर पीयूसी केंद्रों को बंद करने का संकल्प लिया है, जो किसी भी तरह से पीयूसी केंद्रों के संचालन में डीलरों के घाटे को कम नहीं करेगा।"

दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन ने परिवहन विभाग और परिवहन मंत्री को आठ साल तक पत्र लिखने के बाद इसकी अव्यवहारिकता के कारण 1 जुलाई से पीयूसी केंद्रों को बंद करने का आह्वान किया था। एसोसिएशन ने कहा कि पीयूसी दरों में अंतिम बार छह वर्ष के अंतराल के बाद 2011 में संशोधन किया गया था और तब प्रतिशत वृद्धि 70 प्रतिशत से अधिक थी। बयान में कहा गया है, "दिल्ली सरकार द्वारा 13 वर्षों के बाद अब घोषित दर वृद्धि मात्र 35 प्रतिशत है, जबकि पीयूसी केंद्र के संचालन में हमारे सभी खर्च कई गुना बढ़ गए हैं, जबकि 2011 से 2024 तक केवल मजदूरी में ही तीन गुना वृद्धि हुई है।"

बयान में कहा गया है कि तेल विपणन कंपनियां पीयूसी केंद्रों से भारी किराया भी वसूल रही हैं - जो कुल राजस्व का 10-15 प्रतिशत है - जो पहले नहीं था। बयान में कहा गया है, "पिछले 13 वर्षों में पीयूसी केंद्र की विभिन्न अन्य परिचालन लागतों में भारी वृद्धि हुई है। पहले ग्राहक के लिए व्यय वर्तमान लागत का चार गुना था, क्योंकि पीयूसी प्रमाणन की आवृत्ति तिमाही में एक बार होती थी, जो अब बीएस-4 और उससे ऊपर के वाहनों के लिए प्रमाणन मानदंडों में बदलाव के कारण घटकर वर्ष में एक बार हो गई है। इससे राजस्व में भी 75 प्रतिशत की कमी आई है।"

"दिल्ली पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन के साथ एक बैठक में दिल्ली सरकार के माननीय परिवहन मंत्री ने हमारी मांगों को जायज बताया था। दिल्ली सरकार ने साधारण ब्याज गणना के साथ मुद्रास्फीति सूचकांक के आधार पर 75 प्रतिशत की वृद्धि का प्रस्ताव रखा था, जिसके बाद हमने 30 जून को अपनी हड़ताल स्थगित कर दी थी। बयान में कहा गया है, "जब हम अपने डीलरों को प्रदूषण जांच दरों में 75 प्रतिशत की वृद्धि पर सहमत करने का प्रयास कर रहे थे, तब हमें प्रेस द्वारा उपरोक्त खंडों में 20 रुपये, 30 रुपये और 40 रुपये की वृद्धि की जानकारी दी गई, जो कि औसतन 35 प्रतिशत की वृद्धि मात्र है। हमें यह भी पता चला है कि इस गणना का कोई आधार या औचित्य नहीं है, तथा यह आंकड़ा मनमाने ढंग से निकाला गया है।" 

 

Read more
img